दोस्त की बीवी ने मूड ठीक किया

दोस्त की बीवी ने मूड ठीक किया

दोस्तों, मै राकेश, उम्र ३४ साल और औरतो की चूत और गांड का दीवाना | मेरी शादी हो चुकी है और मुझे ये याद नहीं है, कि शादी के बाद मैने किस रात को बीवी को नहीं चोदा | सेक्स मेरी जिन्दगी मे बहुत अहम् है और औरत के शरीर के खुशबु आते ही मुझे कुछ होने लगता है और मेरी बैचेनी बड़ जाती है | आम इंसान मे ये सब गुण होते है, लेकिन कुछ लोग अपनी इस कमजोरी को लाचारी बना लेते है और सारी इच्छाये दबा लेते है | लेकिन, मै उन लोगो मे से नहीं हु; मैने अपनी सुहागरात मे ही बीवी को इतना चोदा, कि वो मेरे लंड की दीवानी और प्यासी हो गयी | अब मुझे उसे गरम करने के जरुरत नहीं पड़ती; मुझे बिस्तर पद नंगा देखते ही, वो अपनी साड़ी खोल डालती है और मेरे ऊपर कूद पड़ती है | लेकिन, यहाँ मै आपको अपने और अपनी बीवी के सेक्स संभंद के बारे मे नहीं बता रहा हु, बल्कि अपने और अपने दोस्त की बीवी रश्मि के बारे मे बताना चाहता हु | रश्मि, मेरे संबसे अच्छे दोस्त किशन की बीवी है | किशन और मेरी शादी लगभग एक ही साथ हुई थी और किशन की बीवी बहुत ही सुंदर और सेक्सी है | जिस दिन किशन, रश्मि के साथ अपनी सुहाग रात बना रहा था, मै अपनी बीवी मे, रश्मि को महसूस करके अपनी बीवी को चोद रहा था |एक दिन मेरी और मेरी बीवी की कुछ लड़ाई हो गयी और मै घर से निकल गया | मेरी बीवी ने भी कोई ज्यादा ध्यान नहीं दिया, क्योकि उसको मालूम था, कि मै ज्यादा से ज्यादा किशन के घर ही जाऊंगा | जब मै वहा पंहुचा, तो घर मे सिर्फ रश्मि थी और बाकी लोग २ दिन के लिए कहीं बाहर गये हुए थे | वो रात को हमारे घर आने वाली थी; मुझे इस बात का पता नहीं था, किशन मुझे रात को फ़ोन करने वाला था | मैने जब ये सुना; तो बोला, अब मै आ ही गया हु, तो आप मेरे साथ ही चलाना | फिर, रश्मि ने मुझे चाय के लिए पूछा; तो मैने चाय बनाने के लिए कहा | रश्मि चाय बनाने रसोई मे चली गयी और मैने टीवी चालू कर दिया | टीवी चालू करते ही मुझे एक झटका लगा | टीवी पर एक ब्लूफिल्म चल रही थी, इसका मतलब रश्मि अकेले मे ब्लूफिलम देख रही थी | फिल्म बड़ी मजेदार थी,इक बुड्डा एक जवान लड़की को चोदा रहा था |फिल्म को देखकर, मै गरम होने लगा था, और मेरा लंड एकदम तन चुका था और मैने बिना किसी की चिंता किये हुए, अपने लंड को अपनी पेंट से भर निकाल लिया और मुठ मरना शुरू कर दिया | तब तक रश्मि भी चाय लेकर आ चुकी थी और मुझे मुठ माते हुए देख रही थी | मै फिल्म देखकर अपनी मस्ती मे आ चुका था और बहुत तेजी से अपना मुठ मार रहा था | मैने अपनी रश्मि के  आने का ध्यान नहीं दिया और जब मेरा ध्यान उधर गया, तो देखा कि रश्मि चाय को साइड मे रखकर अपने चूचो को दबा रही है और उसका एक हाथ, उसकी सलवार मे है और वो अपनी चूत को रगड़ रही है | मैने अपना पानी छोड़ने वाला था, मैने जोर-जोर से झटके मारने शुरू कर दिये | हम दोनों अलग-अलग अपनी कामुकता से खेल रहे थे और हमारी आवाज़े पुरे कमरे मे गूंज रही थी | रश्मि ने देखा, कि मै झड़ने वाला हु, तो वो एकदम मैने लंड के नीचे आकर बैठ गयी और अपना मुह मेरे लंड के सामने खोल दिया | जैसे ही वो बैठी, मेरा सारा वीर्य निकलकर उसके मुह मे भर गया | वो सारा वीर्य निगल गयी और बिना किसी शर्म और हया के उसने मेरा लंड अपने हाथो मे ले लिया और बोली, हाय राकेश, तुम्हारा लंड को काफी बड़ा और मस्त है; इसलिए तुम्हारी बीवी इतनी खुश रहती है | देखे, क्या तुम मेरी प्यास बुझा सकते हो, कि नहीं?मुझे के एकदम समझ मे आ गया, कि मेरी रश्मि बहुत चुदक्ड है और आज मेरा लंड किसी दूसरी चूत के मज़े ले सकता है | वो मेरे लंड से अभी तक खेल रही थी | मेरा लंड एक बार पानी झाड़ चुका था, तो वो सुकड़कर छोटा हो चुका था और वो उसको खड़ा कर रही थी | हाथो से खेलते हुए उसने मेरे लंड को अपने मुह मे रख लिया और उसको चूसने लगी | वो बड़े मस्त अंदाज़ मे मेरे लंड को चूस रही थी, उस वजह से मेरे लंड ने भी दुबारा खड़ा होना शुरू कर दिया | उसकी कुछ ही मिनटों की मेहनत मे मेरा लंड फिर से लहरहा रहा था | मैने रश्मि को अपनी गोद मे उठा लिया और उसके कपडे उतारकर उसकी नंगा कर दिया | वो कोई कमसिन कली नहीं थी | किशन ने उसकी चूचो और निप्पल को चूस-चूसकर बड़ा कर दिया था, उसकी चूत और गांड का भोसड़ा बना दिया था | वो कमरे मे जाकर कंडोम ले आयी और बोली, लायी तो किशन के लिए थी, लेकिन इस पर आपका नाम लिखा था | फिर, वो सोफे पर लेट गयी और मैने अपना मुह उसकी चूत मे घुसा दिया | उसने मेरे लंड को दुबारा जगा दिया और अब मेरी बारी थी | मैने अपनी जीभ लम्बी करके उसकी चूत की घंटी को चुसना शुरू किया और अपने होठो के बीच मे दबा कर चूसने लगा | साली, की सिसकिया निकल गयी और वो बोली, बड़ा दम है, आप मे |मैने अपने एक हाथ से उसके चूचो को दबाना और उसके निप्पल को मसलना शुरू कर दिया और एक हाथ को उसकी गांड के छेद मे डालने लगा | मेरी लगभग पूरी २ ऊँगली उसकी गांड मे नाच कर रही थी और उसकी गांड के अन्दर की खाल को खीच रही थी और उस वजह से उस चूत पूरी तरह उठकर मेरे मुह मे समा चुकी थी | रश्मि का शरीर इतना चिकना था, कि मेरा लंड कभी भी दुबारा झाड़ सकता था | रश्मि बहुत गरम हो चुकी थी और कभी भी फट सकती थी | मैने उसको सोफे पर लिटाकर अपना लंड उनकी चूत मे ठोक दिया | उसकी चूत इतनी बड़ी हो चुकी थी, कि मेरे बड़े लंड को एक बार मे पूरा अन्दर निगल गयी | इतने सालो मे मेरी बीवी की चूत भी इतनी बड़ी नहीं हुई थी | जब मैने उसको बड़ी चूत के बारे मे पूछा, तो वो बोली, मुझे एक बार मे २-३ लंड अपनी चूत मे पसंद है | किशन और हमारे सेक्सफ्रेंड  मेरी चूत मे एक साथ लंड डालते है | कुछ ही झटको मे हम दोनों एक साथ तेज से अपनी गांड हिलाने लगे | मै अपने लंड को उसके अन्दर पूरा डालने की कोशिश कर रहा था और वो अपनी गांड को पूरा हिलाकर मेरे लंड को पूरा निगलना चाहती थी | हम दोनों के शरीर आपस मे टक्कर मार रहे थे और मस्त आवाज़ निकल रही थी | फिर, उसने अपनी गांड को तेजी से हिलाना शुरू कर दिया और मैने भी अपने धक्के तेज कर दिये और हम दोनों एक साथ ही झड गये और हम दोनों के शरीरो पर हम दोनों का वीर्य मिलकर फैल गया |मै तो सोफे पर ही गिर पड़ा | रश्मि उठकर अपने कमरे मे चली गयी | मुझे एक मस्त नींद आ गयी और कुछ देर बाद, मुझे रश्मि ने चाय के लिए जगाया | हम दोनों ने चाय पी और मै रश्मि को लेकर अपने घर निकल पड़ा | लेकिन, आज मुझे एक मस्त-मस्त अहसास था, जो मै रोज़ रात को लेना चाहता था |


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *